मंगलवार, 7 फ़रवरी 2012

बूढी दादी





बूढी दादी रहे अकेली
संग साथ न कोई सहेली
दिन भर खुद से बात करे है
या सुलझाए कोई पहेली



चलो काम में हाथ बंटाएं
समय थोडा सा संग बिताएं
दादी के हम नन्हें साथी
उसे कहेंगे कथा सुनाएँ






चित्र : गूगल से साभार 

32 टिप्‍पणियां:

  1. लाजबाव प्रस्तुति । मेरे पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक उम्र के बाद ख़ामोशी की विवशता बढ़ जाती है , तब ये नन्हें फूल उस उम्र के ख़ास खिलौने बन जाते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  3. प्यारी और सुन्दर सीख देती हुई रचना ..

    उत्तर देंहटाएं
  4. आयो दादी संग हम भी
    बच्चा बन जाये
    उनके दिल को
    बहलाए ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुंदर सीख देती बढ़िया बाल कविता...

    उत्तर देंहटाएं
  6. bal man ki sundar abhivykti ke sath dadi ka sundar chitr .....badhi sweekaren Vandarna ji .

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सार्थक रचना बच्चों को प्रेरित करती दादी का एकाकीपन बाँटें .

    उत्तर देंहटाएं
  8. शानदार लगी आपकी यह प्रस्तुति.
    'दादी के काम में हाथ बटायें' अच्छा लगा पढकर.

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुंदर और सार्थक सन्देश देता बाल गीत. बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  10. दादी और बच्चे ... दोनों एक सामान ही तो हैं ... तभी तो आपस में इतना प्यार रहता है ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. भीगी भीगी होली में रंगों से तरबतर शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  12. .


    बड़ों के समझने की सुंदर बाल कविता …


    आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  13. **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    ***************************************************
    ♥ होली ऐसी खेलिए, प्रेम पाए विस्तार ! ♥
    ♥ मरुथल मन में बह उठे… मृदु शीतल जल-धार !! ♥



    आपको सपरिवार
    होली की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं !
    - राजेन्द्र स्वर्णकार
    ***************************************************
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
    --
    रंगों के पर्व होलिकोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएँ!!!!
    नमस्कार!

    उत्तर देंहटाएं
  15. अच्छी पोस्ट!


    होली मुबारक!!

    उत्तर देंहटाएं
  16. buzurgo ki dashaa ka bahut sateek chitran. mujhe meri dadi yaad aa gai, khoob kahaani sunti thee. shubhkaamnaayen.

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत सुंदर प्रस्तुति...आपको सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  18. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.

    आपको सपरिवार होलिकोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएँ......!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  19. भई वाह! बच्चों के लिए लिखनेवाला भी तो कोई होना चाहिए न! आप ये भूमिका बड़ी खूबी से अदा कर रही हैं । मेरी बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत सुंदर । मेरे पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  21. अब तो दादा दादी बीते ज़माने की बातें हो गयी है .................

    उत्तर देंहटाएं