गुरुवार, 12 दिसंबर 2013

गुड़िया का ब्याह

सजी सजीली नन्हीं गुड़िया
शरमाई आफत की पुड़िया

मिल कर उसका ब्याह रचाया
मंडप प्यारा खूब सजाया

बजती है ढोलक शहनाई
मस्ती में बाराती भाई

पकवानों का दौर चलेगा
गायें नाचें रंग जमेगा

खेल सभी मिलकर खेलेंगे

कभी न प्यारे हम झगड़ेंगे 



छवि : गूगल से साभार 

6 टिप्‍पणियां: